Breaking News
Home / Govt. Initative / तकनीक की दुनिया में भारत की नई पहल:1 दिसंबर 2022 से RBI ने किया डिजिटल करेंसी अर्थात् ई रुपए को लांच

तकनीक की दुनिया में भारत की नई पहल:1 दिसंबर 2022 से RBI ने किया डिजिटल करेंसी अर्थात् ई रुपए को लांच

अब डिजिटल करेंसी का होगा इस्तेमाल-1 दिसंबर 2022 से RBI ने किया डिजिटल करेंसी अर्थात् ई रुपए को लांच-

तकनीक की दुनिया में अब भारत ने भी बहुत तरक्की कर ली है। आनलाइन पेमेंट के साथ साथ अब डिजिटल करेंसी अर्थात् ई रुपए का भी इस्तेमाल किया जा सकेगा। 1 दिसंबर 2022 को RBI ( भारतीय रिजर्व बैंक आफ इंडिया ) ने डिजिटल करेंसी को लांच कर दिया है।
जीविका चलाने के लिए पैसा सबसे महत्वपूर्ण है। हमेशा से इसके उपयोग करने के तरीके में परिवर्तन होता रहा है। लोगों की जरूरत के मुताबिक इसमें परिवर्तन किया जाता है। आज के आधुनिक युग में कैश के साथ साथ आनलाईन पेमेंट का भी इस्तेमाल किया जाता है। ज़रूरत के हर समान की दुकानों में आनलाईन पेमेंट की सुविधा उपलब्ध है। लेकिन अब आपको डिजिटल करेंसी भी देखने को मिलेगी। अर्थात यह एक ई रुपए होगा जिसे सामान्य नोट की तरह उपयोग किया जा सकेगा। भारतीय रिजर्व बैंक आफ इंडिया ने 1 दिसंबर 2022 को ये डिजिटल करेंसी को लांच कर दिया है।

सर्वप्रथम देश के इन चार शहरों में लांच होगी डिजिटल करेंसी-

1 दिसंबर 2022 को इस डिजिटल करेंसी को पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर लांच किया गया है। शुरुआत में देश के इन चार शहरों में इसे लांच किया जाएगा, जिनमें मुंबई, नई दिल्ली, बैंगलुरू और भुवनेश्वर शामिल हैं। इन शहरों में लोग इसका उपयोग कर सकेंगे। ये डिजिटल करेंसी RBI द्वारा समस्त बैंकों को उपलब्ध कराई जाएगी। आरम्भ में इन शहरों के बाद  इस डिजिटल करेंसी का अहमदाबाद, गंगटोक, गुवाहाटी, हैदराबाद, इंदौर, कोच्चि, लखनऊ, पटना, और शिमला जैसे शहरों में भी इसे जारी किया जाएगा।
1 दिसंबर 2022 को RBI , स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, यस बैंक, आई सी आई सी आई बैंक, और आई डी एफ सी फर्स्ट बैंक को डिजिटल करेंसी का टोकन जारी करेगी। जिसके बाद ये लोगों तक पहुंचाया जाएगा। और उसके बाद मौजूदा करेंसी की तरह इसका उपयोग किया जाएगा। और फिर बैंक आफ बड़ौदा, यूनियन बैंक, एच डी एफ सी बैंक और कोटक महिन्द्रा बैंक शामिल किए जाएंगे।

कैसे होगा इसका उपयोग-

डिजिटल करेंसी अर्थात् ई रुपए को सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी ( CBDC ) के नाम से जाना जाएगा। ये डिजिटल करेंसी साधारण नोटों की तरह उपयोग करने मे आसान होगी। इसका लेन देन भी साधारण ट्रांजेक्शन की तरह किया जा सकेगा। यह एक तरह से डिजिटल टोकन होगा जो साधारण पैसों की तरह उपयोग में लाया जाएगा। जैसे कि हम अभी नोटों का इस्तेमाल करते हैं। ठीक वैसे ही इस डिजिटल करेंसी का भी उपयोग किया जाएगा। साथ ही जैसे हम  अभी अलग अलग ऐप के जरिए डिजिटल वालैट का उपयोग करते हैं। उसमें एक निश्चित रकम रख पाते हैं। वैसे ही इसमें भी रकम रख कर इसका उपयोग किया जा सकेगा। इसे भी एक ऐप के जरिए उपयोग कर सकेंगे। इसे आसानी से मोबाइल फोन से एक दूसरे को भेजा जा सकेगा और समान ख़रीदा जा सकेगा।

डिजिटल करेंसी कैसे करेगी काम-

RBI ( रिजर्व बैंक आफ इंडिया )  शुरुआत में इस करेंसी को खुदरा व्यापारियों के लिए लांच करेगी। ये एक तरह से आधिकारिक क्रिप्टोकंरेंसी होगी जिसे ग्राहक और व्यापारी बैंकों के जरिए डिजिटल करेंसी अर्थात् ई रुपए की तरह उपयोग में ला सकेंगे। इसका उपयोग एक लीगल टेंडर के साथ होगा।  ये पूरी तरह से सुरक्षित होगी। केंद्रीय बैंकों की तरफ से इस करेंसी को डिजिटल फाम में एक लीगल टेंडर के साथ लांच किया जाएगा। बैंक इसमें सरकार और जनता के बीच पुल की तरह काम करेगी।

डिजिटल करेंसी को जमा कर सकेंगे बैंक में-

सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी को RBI  ने दो भागों में विभाजित किया है। जिनमें CBDC खुदरा और CBDC रिटेल करेंसी हैं। लोगों का एक दूसरे से इसका लेन देन होने के साथ साथ व्यापारिक जगहों में QR कोड के जरिए इसका उपयोग होगा। जिसमें किसी तरह का कोई टैक्स नहीं लगेगा। साथ ही इसे  दूसरी करेंसी से भी बदला जा सकेगा। इसे बैंक में भी जमा करा सकते हैं। लेकिन धारक को डिजिटल करेंसी पर कोई ब्याज नहीं मिलेगा।

डिजिटल करेंसी का फायदा-

देश की आर्थिक स्थिति को बढ़ावा देने के लिए इसे लांच किया जा रहा है। लोगों के लिए लिए यह बहुत उपयोगी साबित होगा। बैंक से पैसा निकालने में आसानी होगी। सरकार का नोट छापने का खर्च कम होगा। काले धन व अवैध मुद्रा पर रोक लगेगी।

Check Also

शहीद सैनिकों के आश्रितों के लिए खुशखबरी, सरकार करेगी आर्थिक सहायता :

सैनिक सरहदों पर जब पहरेदारी करते हैं तब हम अपने घरों में चैन से सो ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *